बी.एड कालेज के छत मोनी के साथ मजे – Text Stories



उनके बाद‌ एक लड़की अपना नाम मोनी सिंह बोली और फिर बोली मैं पटना बिहार से हू‌। उसकी फिगर 32-28-34 थी दिखने में मस्त थी और अपने दीदी और जीजू के साथ रहती हूं।

फिर मैंने भी अपने बारे में बताया तो मोनी मुझे बिहार के है जानने के बाद मुझे देखकर मुस्कुराने लगी।

अगले दिन फिर जब कालेज पहुंचे तो तो एक किनारे वाली सीट पर बैठ गए और कुछ पढ़ने लगे।

क्लास में आधे लड़के और आधी लड़कियां थी और लड़कियों में ज्यादा तर ‌शादी सुदा थी।

फिर मोनी मुझे हेलो बोली ‌तो मैंने भी मोनी को बदलें में हेलो कहा फिर इधर उधर की बात हुई।

फिर अपने सीट पर‌ से उठकर कालेज की छत पर चले गए जहां पर ज्यादा तो पानी का टैंक ही था।

वहां पर जाकर एक सिगरेट पिने लगे। तो कुछ देर बाद कोई आकर मेरी पीठ को थपथपाया तो दर गए मुझे लगा कोई टीचर हैं।
जब पीछे मुड़कर देखे तो मोनी थी।

तो सिगरेट को फेंक कर नीचे जाने लगे तो मेरे हाथ को पकड़ ली तो रूके तो मोनी मेरे सिने से चिपक कर मुझे हग करने लगी

तो मोनी को अपने से दूर करते हुए बोले – तुम्हारा दिमाग खराब है क्या?

तो मोनी अपने सर को झुका ‌ ली और कुछ नही बोली।

तो मैंने कहा कि तुम्हारी दीदी को बताता दूंगा। तो मोनी सर‌ निचे किए हुए बोली – बताए तो मैं यहीं से कूद जाऊंगी।

फिर मुझे ही दर लगने लगा पागल लड़की है, कुछ भी कर सकती है तो मैंने पूछा क्या चाहती हो तुम?

तो मोनी बोली – तुम से प्यार करती हूं। तो तुम्हारे साथ बहुत सारा प्यार करना चाहती हूं।

मैं बोला – दिमाग खराब है क्या तुम्हारा?

‌तो मोनी बोली – मैं तुमसे प्यार करती हूं और तुम भी मुझसे प्यार करो चाहो तो टाइम ले लो सोचने का, मुझे कल बता देना और मुझे ना में जवाब नहीं चाहिए, नहीं तो कल यहीं से कूद जाऊंगी।

इतना बोलकर मोनी निचे जाने लगी।

तो मैंने कहा – कोई दादागिरी है क्या कि हां में ही जवाब चाहिए…. और टाइम देने की क्या जरूरत है?

मेरी बात सुनकर मोनी मुस्कुराती हुई सीढ़ियों से उतरकर चली गई।
फिर क्लास में बार बार मुझे ही देख रही थी क्लास खत्म होने के बाद अपने रूम पर आ गए और ‌ रात भर मोनी और ‌नेहा दोनों के बारे में सोचे।

दूसरे दिन जब कालेज गए 1 लेक्चर पढ़ने के बाद क्लास से ‌निकल कर छत पर चले गए तो मोनी भी मेरे पीछे आ गई और मुझे छत के पिछले हिस्से की तरह लेकर गई।

और पूछी कि क्या सोचे?

तो मैंने कहा तुम्हारा दिमाग खराब है, हमारे बीच ऐसा कुछ नहीं होगा‌।

फिर मोनी पुछी क्यों?

तो मैंने कहा मैं एक सीधा सादा लड़का हूं, झुठ बोले क्योंकि मुझे नेहा यादव ज्यादा पसंद थी, और बोले तुम कोई और देख लो।

तो मोनी बोली – तुम सीधे हो, और बिहार के हो इसलिए तो तुम्हें चाहती हूं प्लीज तुम भी मुझसे प्यार करो‌ मैं तुम्हारे बिना नहीं जी सकती।

READ:  मोनी की बड़ी बहन खुश होकर अपनी गांड़ को चोदने दी - Text Stories

इतना बोलकर मोनी मेरे पैरों के पास बैठ कर रोने लगी‌।

फिर मैंने भी सोचा कि चलो कुछ महीने में मोनी दिमाग ठंडा हो जाएगा. तब तक इसको हां बोल देता हूँ। फिर नेहा को पटा लेंगे।

तो मैंने कहा ठीक है, लेकिन तुम्हें मुझसे प्यार कब हुआ
तो मोनी बोली – मै कालेज की ग्रुप में देखकर पसंद करने लगी थी, तभी मैंने सोच लिया कि प्यार करूंगी तो सिर्फ तुमसे।

तो मैंने मोनी से पुछा कैसा वाला प्यार? तो मोनी बोली सच्चा वाला‌।

तो मैंने‌ कहा ठीक है, अब क्लास में चलों।

तो मोनी ‌बोली – नहीं, पहले आई लव यू बोलो‌

तो मैंने मोनी को – आई लव यू कहा।

इतना बोलते ही मोनी मेरे सीने से लिपट गई और मेरी गर्दन को चूमने लगी।

तो मैंने कहा सच्चे प्यार में इस सबकी क्या जरूरत है?

तो मोनी बोली विक्रम थोड़ा प्यार करने दो ना प्लीज़!

फिर मैंने भी सोचा, चलो करने दो मुझे क्या है

फिर मोनी मेरे सर, दोनों गालों, गर्दन पर बहुत सारे किस करने लगी।

तो मोनी कि किस करने से मैं भी गर्म हो गए तो मोनी की कमर में हाथ डाल कर उसे रुकने के लिए बोले

तो मोनी रुकते हुए बोली थोड़ा और करने दो ना!

तो मैंने‌ कहा तुम रुको, अब मैं तुम्हें प्यार करता हूं.

इतना कहकर मैंने अपने होंठ को मोनी की होंठ पर किस करने लगे 5 मिनट किस करने के बाद।

मोनी को पानी की टैकी की दीवार के पिछे लेकर गए और जहां जल्दी कोइ आता नहीं था और मोनी को अपनी गोद में बिठा कर बैठ गए और मोनी की होंठों को चूसने लगे।

तो मोनी भी मेरे होंठों को दबोच अपने होंठों में दबाकर मेरे होंठों को चूसने लगी।

कुछ देर किस करने के बाद मैंने मोनी की मुँह में अपने जीभ को डाल कर किस करने लगे।

तो मोनी भी मेरे मुँह में अपनी जीभ डाल दी किस करने लगी।
फिर कुछ देर बाद मोनी के होंठ को छोड़ कर गर्दन पर होंठ रखे और चूसने लगे। तो मेरा लंड टाइट होने लगा तो मोनी मुस्कराने लगी फिर कुछ देर बाद जब लंड और ज्यादा टाइट हो गया तो मेरा लंड ऊपर नीचे होने लगा तो मोनी भी मेरे लंड पर ऊपर नीचे होने लगी, क्योंकि मेरा लंड मोनी को उठा ले रहा था।

तो कुछ देर मेरे लंड पर ऊपर नीचे होने के बाद मोनी कांपती हुई उठने लगी और बोली विक्रम में झडने लगी हूं मुझे बाथरूम जाने दो,

तो मोनी को पकड़ कर मोनी की गांड को सहलाने लगे और होंठों को चूसने लगे।

तो मोनी मेरे लंड पर से उठ कर मेरे लंड से अपनी चूत को दूर करना चाह रही थी‌।

फिर मैंने मोनी की कमर को पकड़ कर अपनी गोदी में लंड पर बैठा लिए और लंड पर मोनी को ऊपर नीचे करने लगे।

READ:  मोनी की बड़ी बहन के जाने के बाद मोनी की पलंग तोड़ चुदाई - Text Stories

तो मोनी भी मेरे लंड पर ऊपर नीचे उछलते हुए झड़ गए।

फिर मेरे गले से लिपट कर गर्दन पर सर रख कर आंखें बंद करके सांसें लेने लगी।

फिर जब मोनी शांत हुइ तो मुझे देखते हुए बोली तुम्हारी वजह से मेरी पैंटी गीली हो गई‌ है तुम्हें अपनी साड़ी को ऊपर करके दिखाती हूं।

फिर मोनी अपनी साड़ी को ऊपर करते हुए अपनी पैंटी दिखाने लगी।
तो मोनी कि पैंटी को देखकर मुस्कुराने लगे तो मोनी अपनी साडी को निचे करके मेरे कंधे में हाथ डाल कर मेरे आंखों में देख कर मुस्कुराने लगी।

तो मैंने कहा चलो अब क्लास रूम में आज के लिए इतना काफी है प्यार।

फिर मोनी मेरे गले लगती हुए बोली – थोड़ी देर और ऐसे ही रहने दो ना!

तो मैंने भी सोचा थोड़ी देर रहने देते हैं

फिर कुछ देर बाद मैंने मोनी की होंठों को देखे, तो मेरे चूसने की वजह से काफी लाल हो गया था।

इस हालात में उसे कोई भी देख कर समझ लेता कि मोनी किसी को किस करके आई है.

तो मैंने कहा तुम्हारे होंठ लाल हो गए है।

तो मोनी हंसते हुए बोली तुम्हारे भी

फिर 30 मिनट ऐसे ही रहने के बाद मैंने मोनी की गाल पर किस करते हुए उठाया और क्लास में चलने को बोले

30 मिनट बाद मोनी की होंठ थोड़े ठीक हो गए थे।
फिर क्लास में। आने के बाद अपने बैग लेकर अपने रूम पर चले आए।

फिर अगले दिन दिन कालेज पहुंचे तो साथ में बैठे और एक लेक्चर करने के बाद छत पर चले गए, फिर से हम दोनों वहीं छत पर कोने में जाकर बैठ गए।

वहां छत पर हमें कोई नहीं देख सकता था अगर छत पर आ भी जाए तब भी।

फिर मैंने – मोनी से पुछा आज क्या इरादा है?

तो मोनी बोली – मुस्कराते हुए बोली प्यार करने का!

इतना कहकर मोनी मेरे होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसने लगी।

तो मैं मोनी की पीठ को अपने हाथ से सहलाने लगे और साथ में मोनी की होंठों को चूसने लगे।

फिर कुछ देर बाद मोनी मेरा हाथ को पकड़ कर अपनी चूची पर ले जाने लगी।

तो मैंने मोनी की गर्दन को पकड़ कर मोनी की तरह बढ़े मोनी की ब्लाउज के ऊपर के 2 बटन जल्दी से खोल दिए तो मोनी अपनी हाथ को पीछे लेजाकर ब्रा खोलने की कोशिश करने लगी।

तो मोनी की हाथ को पकड़ कर रोक दिए और मोनी की ब्रा के ऊपर से ही चूची को मुंह में दबाकर दांत से काटे तो मोनी अपनी मुँह खोल कर हल्की हल्की सीत्कार निकलने लगी।

मोनी की दोनों चुची एकदम कड़क, थी और तनी हुई निप्पल पूरे गुलाबी

फिर मोनी की दोनों चूचियों को ब्रा से बाहर निकाल कर बारी बारी से मुंह में लेकर चूसने लगे।

तो मोनी जोर जोर से सीत्कार निकलने लगी तो रुक गए और मोनी की आंखों में देखने लगे।

तो मोनी शर्माती हुई कहने लगी विक्रम और करो ना!

READ:  Sexy mom aur didi part 2 - Text Stories

तो मैंने कहा – इससे ज्यादा कालेज में नहीं हो सकता।

फिर मोनी मेरे लंड पर हाथ रखती हुई बोली – आज मुझे तुम्हारे लंड को देखना है।

तो मोनी की बात को सुनकर मोनी की कमर को पकड़ कर अपनी तरफ खींचते हुए गर्दन पर चूसने लगे।

तो मोनी मेरे लंड को पैंट की ज़िप खोल कर बाहर निकाल ली और हाथ से पकड़ ली।

तो मोनी की आंखों में देखते हुए पुछे – क्या कर रही हो?

तो मोनी बोली – तुम्हारे लंड को शांत बोलकर अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ कर सहलाने लगी।

तो मेरा लंड पहले से भी ज्यादा टाइट हो गया।

फिर मोनी को टाइट पकड़ कर ऊपर नीचे करने लगी इतना टाइट पकड़ी थी अपने नाखून से मेरे लंड पर निशाना बना दी, नाखून लगने से मुझे काफी तेज दर्द हुआ

लेकिन मैंने मोनी को कुछ नहीं कहा और मोनी को लंड को ऊपर नीचे करते रहने से नहीं रोके तो मोनी खुशी से मेरे लंड को हिलाती रही।
तो मैंने मोनी को रुकने को बोलें और मोनी को किस करने लगे और अपने हाथ को मोनी की चूत पर पैंटी के नीचे से डाल कर रख दिए।

तो पता चला मोनी की चूत गीली हो गई है तो मोनी की चुत को सहलाने लगे।

तो मोनी मेरे से लिपट कर मेरे होंठों को चूसने लगी।

और बोली मैं झडने वाली हूं।

तो मैंने मोनी की साडी को आगे से ऊपर उठकर अपने लंड को मोनी की पैंटी के नीचे से सीधा चूत के पास डाल कर रगड़ने लगे।

तो मोनी कांपते हुए झड़ कर शांत हो गई।

मेरा लंड मोनी की चूत की पानी से पूरी तरह गीला हो गया।

फिर जब अपने लंड को बाहर निकाले तो मेरे लंड के ऊपर से मोनी की चूत की पानी निचे टपकने लगा तो मोनी मेरे लंड को फिर से पकड़ कर ऊपर नीचे करने लगी।

तो मुझे दर्द भी नहीं हो रहा था तो मजा भी आने लगा तो करीब 25 मिनट बाद झडने वाले थे तो सोचने लगे कहा निकालू इतने में मोनी की हाथ में ही झड़ गए।

तो मुझे झड़ते हुए देखकर मोनी काफी खुश हुई और मुझे किस करने लगी।

फिर मैंने अपने लंड को अंदर डाल कर बोले ठीक है, अब क्लास में चलते हैं लेक्चर पढ़ने।

फिर मोनी मुझे किस करती हुई बोली – ठीक है, लेकिन कल सब कुछ करेंगे।

तो मैंने पुछा – सब कुछ मतलब मोनी?

फिर मोनी बोली – मुझे चुदने का मन है।

तो मैंने कहा – पागल हो क्या, में तुम्हें चोद नहीं सकता, चलो जाओ अब!

मैंने मोनी को एक लंबा किस किए और जाने को बोलें।

फिर मोनी क्लास में चली गई।

बाकी आगे की कहानी अगले भाग में आपको कैसी लगी कहानी कामेट करके जरूर बताएं।

और मिलने के लिए मेल करें
[email protected]

This story बी.एड कालेज के छत मोनी के साथ मजे appeared first on new sex story dot com