मोनी को चोदने गए बंगले पर – Text Stories



फिर एक दिन मोनी बोली जीजू तो 9 बजे आफिस चले जाते हैं और शाम को 7 बजे आते हैं

और सोभा दीदी 10 बजे ब्यूटी पार्लर जाती है तो कभी 2 बजे कभी 4 बजे आती है।

मोनी की बातों का मतलब समझ गए थे मोनी चुदना चाहती है।

फिर मैंने मोनी से पूछा कि अगर तुम्हारी सोभा दीदी जल्दी आ गई तो?

तो मोनी बोली – सोभा दीदी को पता है तुम मेरे बायफ्रेंड हो। बाकी सब पुछने के बाद मैंने हामी भर दिए।

अगले दिन कालेज के पास पहुंचे और ‌कालेज के अंदर नहीं गए मोनी भी पहुंच गइ‌, फिर कालेज के बाहर 10 बजने का इंतजार करने लगे।

जब 10 बजा तो कालेज से दोनों चले और 5 मिनट में मोनी के घर पर पहुंच गए जो फ्लैट नहीं बंगाल जैसा था।

जब अन्दर गए तो देखें निचे बाथरूम बना था किचेन था हाल था और एक सोभा दीदी का कमरा था फिर मोनी मुझे ऊपर अपने रूम में लेकर गई।

जहां मोनी की रूम से ही अटैच एक छोटा सा बाथरूम था

फिर रूम से जाते मोनी गेट को बंद कर दी तो बेंड पर बैठ गए और मोनी की हाथ को पकड़ कर सिधा खिंच कर अपनी गोद में बिठा लिया‌।

फिर मोनी के माथे पर चूमते हुए कहा – आज पहली बार तुम मेरे पास एक रूम में मिल रही है और सोभा दीदी आ ना जाए इस लिए घबरा रही हो क्या

फिर मोनी बोली – नहीं सोभा दीदी से दर नहीं है वो जीजू से है।

तो मैंने कहा – अगर तुम्हें दर लग रहा है तो चलते हैं रूम पर से कहीं और करेंगे, मुझे कहीं भी कोई दिक्कत नहीं है।
तो मोनी बोली जो होगी देखी जाएगी।

फिर मोनी को किस करने लगे और कपड़े को उतारने लगे

मोनी घर पर छोटे कपड़े पहनी हुई थी तो मैंने मोनी के सारे कपड़े एक एक करके उतार दिए।

कपड़े उतार दिए तो मोनी मेरे सीने में अपना मुँह छुपा ली, मोनी पुरी नंगी सच में कमाल की माल लग रही थी।

आज पहली बार मोनी को पूरी नंगी देख रहा थे।

मोनी की छोटी छोटी चुची पर छोटी गुलाबी निप्पल और बिना बालों वाली गोरी चूत, एकदम फूली हुए थी।

READ:  मोनी की बड़ी बहन खुश होकर अपनी गांड़ को चोदने दी - Text Stories

फिर मैंने पुछा – क्या हुआ, शर्मा क्यों रही हो? आज पहली बार तुम्हें नंगी तो नहीं देख रहा हूं!

फिर मोनी बोली – तुम भी अपने कपड़े उतारो

तो मैंने भी अपने सारे कपड़े उतारे और बिल्कुल नंगा हो गया।

फिर मोनी मुझे अपनी बांहों में भर ली।

तो मोनी के होंठों को चूसे और गर्दन, चूची, को चूसे।

फिर मोनी की चूत को चाटे और अपने लंड के सुपारे को मोनी की चूत पर रगड़ते हुए पुछे – डाल दूं?

तो मोनी मुस्कराते हुए हां में सिर हिलाइ तो अपने होंठों से मोनी के होंठों को बंद किए और लंड के सुपारे को मोनी की चूत में घुसा दिए।

तो मोनी दर्द से छटपटाने लगी तो मोनी को पकड़े हुए रूके रहे और मोनी को किस करते हुए चुची को दबाने लगे।
करीब 3 मिनट बाद मोनी शांत हुई, तो मैंने एक धक्का और मारा तो कुछ लंड और अन्दर चूत में चला गया।

तो मोनी फिर से छटपटाने लगी।

फिर कुछ देर बाद मैं उतने ही लंड को मोनी की चूत में आगे पीछे करने लगे, तो मोनी को मजा आने लगा‌।

तो मैंने जोर से धक्का मारे और इस बार मेरे होंठ मोनी की होंठ पर नहीं था तो मोनी जोर से चिल्लाई‌।

तो जल्दी से मैंने मोनी की मुँह को बंद किए और ऐसे ही पड़े रहे।

कुछ देर बाद मोनी अपनी गांड उठाने लगी, तो मैंने भी हल्की रफ्तार में चुदाई करने लगे।

तो मोनी आह आह की आवाज निकलने लगी।

फिर मोनी के होंठ को छोड़ कर मोनी के एक पैर को अपने कंधे पर रख कर मोनी की कमर को पकड़ कर चोदने लगे।

करीब 10 मिनट चोदे की मोनी मुझे अपने सीने से लगाने लगी और कांपते हुए झड़ गई।

फिर कुछ देर तक रुके और फिर से मोनी को चोदने लगे तो मोनी को बहुत ज्यादा दर्द होने लगा।
फिर अपने लंड को चूत से निकाले और मोनी को अपने सीने से लगा कर सहलाते हुए प्यार करने लगे।

मोनी बहुत ज्यादा थक गई थी, तो मोनी सो गई।

और मेरा लंड अभी झड़ा नहीं था मगर फिर भी मोनी को पकड़े हुए सो गए।

READ:  बी.एड कालेज की छत पर मोनी को चोदे - Text Stories

जब मेरी नींद खुली तो एक बज गया था और मेरे बाजू में मोनी एक बच्चे की तरह सो रही थी।

फिर मैंने मोनी को जगाया तो मोनी से खड़ा नहीं हुआ जा रहा था।

फिर भी मोनी बहुत खुश लग रही थी और मुझे किस करने लगी।

तो मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया।

फिर मैंने पुछा – कैसा लग रहा है मोनी?

तो मोनी मुस्कराते हुए बोली – दर्द तो बहुत हो रहा है, लेकिन मजा भी बहुत आ रहा है, एक बार फिर चोदो ना विक्रम… तुम्हारा तो फिर से खड़ा हो गया है।

तो मैंने कहा – मोनी बहुत दर्द होगा, क्योंकि तुम्हारी चूत सुझ गई है। चलो बाथरूम में तुम्हारी चूत के दर्द को कम कर देता हूं गर्म पानी डाल कर।
फिर मोनी को अपनी बाहों में उठा कर बाथरूम में लेकर गए और सिट पर बैठा दिए और दोनों पैरों को अलग करके मोनी के सामने खड़े होकर लंड को सहलाने लगे तो पेशाब आने लगी तो अपने लंड को पकड़ कर सिधा मोनी की चूत पर गर्म गर्म पेशाब करने लगे तो मेरे गर्म पेशाब से मोनी की चूत का दर्द कम हो गया।

फिर मोनी बाथरूम से ख़ुद चलकर रूम में आ गई।

तो मैंने कहा – मोनी टाइम भी हो गया है, अब चलना चाहिए नहीं तो तुम्हारी सोभा दीदी आ जाएगी।

तो मोनी बोली – पहले लाओ, मैं तुम्हारे लंड को प्यार कर देती हूं। क्योंकि अभी भी खड़ा है।

बोलकर मोनी मेरे लंड को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी। करीब 15 मिनट मोनी के चुसने के बाद मोनी के मुँह में झड़ गए।
झडने से पहले अपने लंड को मोनी की मुंह से निकालने ही वाले थे की मोनी अपने दांत से दबा ली फिर लंड को बाहर नहीं निकाले तो मोनी मेरे लंड से निकले पानी की आखिरी बूंद तक चुस ली।

उसके बाद हम दोनों अपने कपड़े पहन कर घर से निकल गए।

फिर साथ में दोनों घुमे और कालेज बंद होने के टाइम पर मोनी फिर से अपने घर चली गई और मैं भी अपने रूम पर आ गए।

अगले दिन फिर कालेज पहुंचे तो मोनी गेट पर ही खड़ी थी और बोली फिर आज भी घर चलते हैं।

READ:  Sexy mom aur didi part 2 - Text Stories

तो मैंने भी हां ‌बोलकर मोनी के साथ मोनी के घर पर चले गए।

घर पर जाते ही मोनी मुझे दबोच ली फिर किस करने लगी और फिर कपड़े निकाल कर मोनी को चोदने लगे तो आज उसे कम दर्द हो रहा था।

फिर मैंने मोनी की एक चूची को मुँह में दबाकर और धक्का मार कर अपने लंड को मोनी की चूत में डालने ‌लगे
और जोर जोर से चोदने लगे।

कुछ देर चोदने के बाद पोजीशन बदले और मोनी को अपनी गोद में बिठा कर चूत में लंड डाल कर कमर को पकडे और मोनी को चोदने लगे।

आज मोनी भी अपनी गांड उठा कर मेरे लंड को अपने चूत में ले रही थी।

फिर मोनी को अपने सीने से लगा कर गांड को पकड़े और जोर जोर से चोदने लगे।

तो मोनी बहुत ज्यादा जोर जोर आवाज निकालने लगी और मुझे किस करते हुए हांफते हुए झड़ गई।

फिर अपने लंड को मोनी की चूत से निकालने लगे तो मोनी बोली चूत में ही रहने दो। कुछ देर ऐसे ही परे रहने के बाद मोनी अपनी गांड ऊपर नीचे करके मेरे लंड को अपने चूत में लेने लगी तो फिर से जोर जोर से चोदने लगे करीब 25 मिनट चोदने के बाद मोनी फिर से झड़ गई, और मेरा भी निकलने वाला था तो मैंने पूछा मोनी – कहां निकालूं?
तो मोनी बोली – अन्दर ही निकालो तो मैंने कहा प्रेगनेंट हो जाओगी बोलकर अपने लंड को बाहर निकाल दिए तो मोनी मेरे लंड को जल्दी से मुँह में लेकर चूसने लगी।

तो मोनी की मुंह में झड़ गए तो मोनी सारा पी गई और मेरे लंड को एक दम साफ़ करके अपने मुंह से निकाली।

कुछ देर आराम करने के बाद हम दोनों उधर से निकल गए। और बाहर घुमे फिरे और दोनों अपने रूम पर चले गए।

बाकी आगे की कहानी अगले भाग में आपको कैसी लगी कहानी कामेट करके जरूर बताएं।

और मिलने के लिए मेल करें
[email protected]

This story मोनी को चोदने गए बंगले पर appeared first on new sex story dot com